May 20, 2024
Ling kise kahate hain

लिंग किसे कहते हैं? लिंग की परिभाषा, भेद और उदाहरण

लिंग किसे कहते हैं? लिंग की परिभाषा क्या हैं? हेल्लो दोस्तों, हिंदी व्याकरण के एक और नए topic के बारेमे सिखने लिए तैयार हो जाईए क्योकि इस लेख में हम आपको एक बहोत ही महत्वपूर्ण विषय लिंग के बारेमे बताने वाले हैं. इस लेख को पढ़ने के बाद आप सिख जायेंगे की लिंग किसे कहते हैं, लिंग की परिभाषा क्या हैं, लिंग के प्रकार कितने हैं और स्त्रीलिंग और पुल्लिंग की पहचान कैसे करे.

यदि आप शुरुआत से Hindi grammar सिख रहे हैं तो आपको लिंग के बारेमे भी सीखना होगा. इस article को पढ़ने के बाद आपको लिंग के बारेमे सब कुछ पता चल जायेगा. तो चलिए इस लेख को शुरू करते हैं और लिंग की व्याख्या क्या हैं, यह जानते हैं.

Ling kise kahate hain
Ling kise kahate hain

लिंग किसे कहते हैं

लिंग की परिभाषा: संज्ञा के जिस शब्द से हमें किसी व्यक्ति या फिर वस्तु के पुरुष जाती या स्त्री जाती के बारेमे पता चलता हैं, उसे ही हम लिंग कहते हैं.

लिंग से हमें यह पता चलता हैं की वह संज्ञा शब्द पुरुष जाती का हैं या स्त्री जाती का हैं.

लिंग का अर्थ क्या होता हैं

लिंग का अर्थ “निशान” या “चिन्ह” होता हैं. लिंग शब्द को संस्कृत भाषा के एक शब्द से लिया गया हैं.

आगर लड़का हैं तो उसे हम पुरुष कहते हैं और अगर लड़की हैं तो उसे हम स्त्री कहते हैं. आपको बता दे की आप सजीव, निर्जीव या भाव को लिंग के आधार पर बाँट सकते हैं. ऐसा नहीं हैं की केवल पुरुषवाचक नाम और स्त्रीवाचक नाम को ही आप लिंग के आधार पर बाँट सकते हैं. आप किसी वस्तु को भी लिंग के आधार पर उनका वर्गीकरण कर सकते हैं.

पुरुष जाती: किशन, नरेश, राजा, शेर, शहर, प्यार, समुद्र इत्यादि.

स्त्री जाती: सुनीता, गीता, गाय, बकरी, जगह, महिमा, तड़प, नदी, पृथ्वी, इत्यादि.

जो भी संज्ञा शब्द होते हैं वे या तो पुल्लिंग होगे या फिर स्त्रीलिंग होंगे. और इसी पुल्लिंग और स्त्रीलिंग से हमें विशेषण, सर्वनाम और संज्ञा की जाती के बारेमे पता चलता हैं.

तो अब आपको पता चल गया होगा की लिंग किसे कहते हैं और लिंग की परिभाषा क्या हैं, लिंग का अर्थ क्या होता हैं. अब हम आपको लिंग के प्रकार कितने होते हैं, इसके बारेमे सिखाते हैं. लिंग के भेद सिखाने के बाद आपको सब कुछ समज में आ जायेगा.

लिंग के प्रकार

संस्कृत में लिंग के तिन भेद हैं, पर हिंदी भाषा में लिंग के 2 प्रकार हैं.

  • पुल्लिंग
  • स्त्रीलिंग

संस्कृत में पुल्लिंग, स्त्रीलिंग और नपुंसक, यह तिन लिंग के भेद हैं. पर हिंदी में हम केवल पुल्लिंग और स्त्रीलिंग का ही समावेश करते हैं. निचे आपको पुल्लिंग किसे कहते हैं, पुल्लिंग के उदाहरण, स्त्रीलिंग किसे कहते हैं, स्त्रीलिंग के उदाहरण के बारेमे जानकारी दी गयि हैं.

Ling ke prakar
Ling ke prakar

पुल्लिंग किसे कहते हैं

पुल्लिंग की परिभाषा: जिन संज्ञा शब्दों से हमें किसी व्यक्ति या वस्तु के पुरुष जाती होने के बारेमे पता चलता हैं उन्हें हम पुल्लिंग कहते हैं.

जैसे की, किशन, लड़का, इन्सान, गुरु, जंगल, बादल, कंप्यूटर, हाथी, चूहा, बदला, प्यार, इत्यादि.

ऊपर जो शब्द दिए गए हैं वे सारे के सारे शब्द पुल्लिंग हैं. इनसे हमें पुरुष जाती का बोध होता हैं. इसमे सजीव शब्द भी हैं, निर्जीव शब्द भी हैं और भाव का भी समावेश हैं.

तो अब आपको पुल्लिंग क्या हैं, इसका मतलब क्या होता हैं और पुल्लिंग शब्दों के उदाहरण क्या हैं, इसके बारेमे पता चल गया होगा.

स्त्रीलिंग किसे कहते हैं

स्त्रीलिंग की परिभाषा: जिन संज्ञा शब्दों से हमें किसी व्यक्ति या वस्तु के स्त्री जाती होने के बारेमे पता चलता हैं उन्हें हम पुल्लिंग कहते हैं.

जैसे की, कविता, प्रतीक्षा, नदी, वैशाली, उंगली, व्यथा, रात, छिपकली, किताब, इत्यादि.

ऊपर दिए गए शब्दों से हमें किसी व्यक्ति या वस्तु के स्त्री जाती का होने का बोध होता हैं, अत: ये शब्द स्त्रीलिंग हैं.

यह भी पढ़े:

पुल्लिंग और स्त्रीलिंग के बारेमे तो जाना, पर अब उनकी पहचान कैसे करे? मतलब की पुल्लिंग शब्दों को कैसे पहचाने? स्त्रीलिंग शब्दों को कैसे पहचाने? आईए इसके बारेमे समजते हैं.

पुल्लिंग शब्दों की पहचान कैसे करे

देखो, कुछ शब्द ऐसे होते हैं जोकि हमेशा पुल्लिंग ही रहते हैं और कुछ शब्द हमेशा स्त्रीलिंग ही रहते हैं. पर कुछ उपवाद शब्द ऐसे भी होते हैं जोकि पुल्लिंग से स्त्रीलिंग में रूपांतर भी हो जाते हैं. मतलब की परिवर्तन करते हैं.

निचे आपको पुल्लिंग शब्दों की पहचान करने के लिए कुछ tips दी गयी हैं.

  • वारो के नाम: सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरूवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार.
  • महीनो के नाम: 12 इंग्लिश या भारतीय महीनो के नाम.
  • देशो के नाम: भारत, नेपाल, श्री लंका, अमेरिका, रूस, चीन.
  • पर्वतो के नाम: गिरनार, हिमालय, गोवर्धन.
  • पुरुषो और देवताओ के नाम: किशन, इंद्र, विष्णु, राजेश, अक्षय, कार्तिक.
  • वृक्षों के नाम: निम्, पीपल, आम.
  • महासागरो के नाम: हिन्द महासागर, अरब महासागर, प्रशांत महासागर.
  • ग्रहों के नाम: मंगल, शुक्र, शनि.

अब इसमे कुछ उपवाद शब्द भी होते हैं. पर ज्यादातर वे सभी पुल्लिंग ही होते हैं.

स्त्रीलिंग शब्दों की पहचान कैसे करे

  • भाषाओ के नाम: इंग्लिश, गुजराती, हिंदी, मराठी.
  • नक्षत्रो के नाम: भरनी, अश्विनी.
  • नदियों के नाम: गंगा, साबरमती, यमुना, वापी.
  • स्त्री और देवी के नाम: पारवती, कोमल, सुनीता, तमन्ना, लक्ष्मी.
  • लिपि के नाम: देवनागरी लिपि, गुजराती लिपि, इत्यादि.

अब यहाँ पर भी कुछ उपवाद शब्द होते हैं.

Also read:

अब में आपको एक बात बताता हु, जिससे आप चुटकियो पता लगा सकोगे की वो संज्ञा शब्द पुल्लिंग हैं या स्त्रीलिंग हैं.

पुल्लिंग शब्दों की पहचान के लिए,

“यह संज्ञा शब्द कैसा हैं?” यहाँ पर “संज्ञा शब्द” के स्थान पर आपको जो शब्द मिला हैं वो लिखना हैं और एक सवाल पूछना हैं. जैसे की “घोडा”, तो आप पूछोगे की “यह घोडा कैसा हैं” अब आप इसे सुनो, ये सुनने में आपको सही लगेगा, मतलब की वाक्य में कुछ गलत नहीं हैं. तो वो शब्द, मतलब की “घोडा” एक पुल्लिंग हैं.

अभी आप कोई दूसरा शब्द, जैसे की प्रतीक्षा, मतलब की इन्तेजार करने वाला शब्द. तो इसका वाक्य बनेगा, “यह कैसा प्रतीक्षा हैं” अब यह वाक्य थोडा सा अलग लग रहा हैं, match नहीं हो रहा हैं. तो ये पुल्लिंग नहीं हो सकता.

अब इसकी जगह आप यह पूछो की “यह संज्ञा शब्द कैसी हैं?” तो उसका बनेगा “यह प्रतीक्षा कैसी हैं?” तो यह वाक्य सुनने में ठीक लग रहा हैं. तो प्रतीक्षा एक स्त्रीलिंग शब्द हैं.

वैसे आपको इतना कुछ करने की जरुरत भी नहीं हैं. आप हिंदी भाषा को बहोत अच्छे से समजते हो, बचपन से हिंदी भाषा को बोलते आ रहे हो और दूसरो से बात भी करते आ रहे हो, तो आप शब्द को देख कर ही वह किस लिंग का ये आसानी से बता दोगे.

ऐसे ही कुछ और शब्द हैं जिसे आप उन शब्दों के साथ जोड़कर उनके बिच कोई मेल हो रहे हैं या नहीं, इसके आधार पर भी वे शब्द पुल्लिंग हैं या स्त्रीलिंग, यह पता कर सकते हो.

पुल्लिंग शब्दों के लिए: तुम्हारा, आ रहा हैं, कैसा हैं, इत्यादि.

  • “क्या किशन कैसा हैं?” ये वाक्य सही लग रहा हैं. (किशन पुल्लिंग हैं)
  • “क्या कोमल कैसे हो?” यह सही नहीं लग रहा. (कोमल स्त्रीलिंग हैं)
  • “यह भाषा कैसा भाषा हैं?” यह भी सही नहीं लग रहा. (भाषा स्त्रीलिंग हैं)

स्त्रीलिंग शब्दों के लिए: तुम्हारी, आ रही हैं, कैसी हैं, इत्यादि.

  • “यह कैसी भाषा हैं?” यह सही लग रहा हैं (भाषा स्त्रीलिंग हैं)
  • “यह कैसी कोमल हैं?” यह भी सही लग रहा हैं (कोमल स्त्रीलिंग हैं)
  • “यह गाँव कैसी हैं?” यह वाक्य कुछ ठीक नहीं लग रहा (गाँव पुल्लिंग हैं)

तो कुछ इसी तरह आप भी अपने हिसाब से पता लगा सकते हो.

अब आपको पता चल गया होगा लिंग की पहचान कैसे करे, पुल्लिंग और स्त्रीलिंग को कैसे पहचाने. अब हम जानते हैं की लिंग परिवर्त किसे कहते हैं और पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में कैसे बदले.

लिंग परिवर्तन किसे कहते हैं

जब हम पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में बदलते हैं या फिर स्त्रीलिंग को पुल्लिंग में बदलते हैं तो उसे लिंग परिवर्तन करना कहते हैं.

पुल्लिंग शब्दों में कुछ बदलाव करने से वे स्त्रीलिंग शब्द बन जाते हैं और ठीक उसी तरह स्त्रीलिंग शब्दों में कुछ बदलाव करने से वे शब्द पुल्लिंग शब्द बन जाते हैं.

पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में कैसे बदले

1. “अ”, “आ”, “य” को “इ” में बदलने से पुल्लिंग शब्द स्त्रीलिंग बन जाता हैं. जैसे की,

  • नर = नारी
  • देव = देवी
  • लड़का = लड़की

2. “अ”, “आ”, “या” को “ईया” करने से पुल्लिंग स्त्रीलिंग बन जाता हैं.

  • बेटा = बेटिया
  • खाट = खटिया

3. “अक” को “इका” करने से पुल्लिंग स्त्रीलिंग बन जाता हैं.

  • नायक = नायिका
  • लेखक = लेखिका
  • शिक्षक = शिक्षिका

इसी तरह बहोत तरीके से आप पुल्लिंग शब्दों को स्त्रीलिंग शब्दों में बदल सकते हो.

  • दास = दासी
  • घोडा = घोड़ी
  • पुत्र = पुत्री
  • प्रिय = प्रिया
  • पंडित = पंदितायीन
  • तपस्वी = तपस्विनी

यह भी पढ़े:

Ling: FAQ

लिंग किसे कहते हैं?

जिन संज्ञा शब्दों से हमें उनके पुरुष या स्त्री कोने का बोध होता हैं उन्हें लिंग कहते हैं.

लिंग के भेद कितने हैं?

हिंदी व्याकरण में लिंग के 2 भेद हैं. पुल्लिंग और स्त्रीलिंग.

पर्वत का लिंग क्या हैं?

पर्वत का लिंग पुल्लिंग हैं. यह एक पुल्लिंग शब्द हैं.

क्या पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में बदला जा सकते हैं?

हा. आप पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में और स्त्रीलिंग को पुल्लिंग में बदल सकते हो. उसे हम लिंग परिवर्त करना कहते हैं. कुछ नियमो का उपयोग करके आप यह कर सकते हो.

Conclusion:

इस लेख में आपने सिखा की लिंग किसे कहते हैं, Hindi Gender क्या होता हैं, लिंग की परिभाषा क्या हैं, लिंग के प्रकार और उसका अर्थ क्या होता हैं, लिंग के उदाहरण. हमने आपको पुल्लिंग का मतलब, स्त्रीलिंग का मतलब और उनकी व्याख्या के बारेमे सारी जानकारी दी हैं.

हमने यह पर यह भी सिखा की हिंदी व्याकरण में लिंग परिवर्तन किसे कहते हैं और यह कैसे किया जाता हैं. हिंदी में लिंग का क्या महत्त्व हैं और लिंग की पहचान कैसे की जाती हैं. हमने अपने blog पर Hindi Grammar से जुड़े बहोत articles लिखे हैं, आप उन्हें भी जरुर पढ़े. धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *